7 दिन में करें पीलिये का इलाज जड़ से / Piliya ka ilaj Jaundice

Piliya ka ilaj

पाचन तंत्र कमजोर होना पीलिये का प्रमुख कारण है। पीलिया का कारण बिलीरुबिन नामक पदार्थ होता है। जिसका निर्माण शरीर के ऊतकों और रक्त में होता है। जब हमारे शरीर में लाल रक्त कोशिकाएं टूट जाती है तब पीले रंग का बिलरुबिन नामक पदार्थ बनता है। इस रोग में अगर लापरवाही की जाये तो ये काला पीलिया बन जाता है। जो जानलेवा रोग हो सकता है। इस बीमारी में इलाज के साथ-साथ परहेज करना बहोत जरुरी होता है। पीलिया पुराना हो या नया आप इसका इलाज घरेलु नुस्खों और आयुर्वेदिक दवा से आसानी से कर सकते हैं। आज इस पोस्ट में हम आपको बतायेंगे Piliye ka ilaj, पीलिये का इलाज पतंजलि और पीलिये का घरेलु इलाज।

पीलिया कैसे होता है

पीलिया रोग पाचन की कमजोरी और लिवर की कमजोरी की वजह से होता है। इस बीमारी में रोगी के शरीर का सारा खून पीला पड़ जाता है। इसी वजह  के शरीर में खून की कमी होने लगती है।

पीलिया के लक्षण

  • आँखे और नाख़ून पीले पड़ जाते हैं।
  • आँखों और सिर में दर्द रहता है
  • भूख कम लगती है।
  • उल्टी आना और जी मचलना

पीलिया होने के कारण

  • लिवर कमजोर होने से
  • शरीर में खून की कमी होने से
  • इन्फेक्शन होने से

पीलिये का घरेलु इलाज / Piliye ka ilaj Jaundice

नारियल पानी

कुछ लोग सोचते होंगे कि नारियल पानी से पीलिया ठीक नहीं हो सकता लेकिन यकीन मानिये दोस्तों पुराने से पुराने पीलिया को ठीक करने के लिये ये एक रामबाण उपाय है। रोजाना दिन में 2 या 3 नारियल का पानी अवश्य अवश्य पियें। लगभग 10 दिन लगातार ये पानी पियें साथ ही हल्का सा भोजन भी लें।

चने की दाल

एक मुट्ठी चने की दाल रात को भिगो दें। सुबह इसमें से पानी निकालकर गुड़ के साथ इसका सेवन करें। लगातार कुछ दिन ऐसा ही करते रहें। जोनिड्स से राहत मिलेगी।

गर्म पानी से स्नान

सूर्य  रोशनी में ज्यादा जाने से बचें और रोजाना सुबह गर्म पानी से स्नान करें। नीम के पत्तों के उबले हुए पानी से भी नहाना फायदेमंद होता है। गर्म पानी से नहाने से तनाव भी दूर होता है।

टमाटर

Piliya ka ilaj टमाटर से भी किया जा सकता है। कुछ दिन लगातार रोज सुबह एक गिलास टमाटर जूस में नमक और थोड़ी सी काली मिर्च मिलाकर सेवन करें।

फिटकरी

50 ग्राम फिटकरी को अच्छे से पीस लें। इसके बाद इसे बारीक़ पीस कर पाउडर बना लें। अब आधा चमच्च फिटकरी को गाय के दूध के साथ सेवन करें। दिन में 2 बार इसका सेवन करें। कुछ ही दिनों में आपको महसूस होगा कि पीलिया का असर धीरे-धीरे खत्म होता जा रहा है।

निम्बू

निम्बू का रस पीना पीलिया में बहोत फायदेमंद होता है। रोजाना 5 चमच्च निम्बू के रस का सेवन करें। अगर आप चाहे तो निम्बू की शिकंजी बनाकर भी पी सकते हैं।

काले पीलिया का देसी इलाज

  • Piliya ka ilaj. काले पीलिया का इलाज करने के लिये 10 बादाम की गिरी, दो छुहारे और थोड़ी सी छोटी इलायची को रातभर मिट्टी के बर्तन में भिगोकर रख दें। सुबह इन सबको पीसकर पाउडर बना लें। अब इस पाउडर को मिश्री के साथ सेवन करें। कुछ दिन लगातार इस पाउडर का सेवन करने से पीलिया ठीक हो जाता है।
  • सुबह खाली पेट 4 नीम के पत्ते खाने से पीलिया रोग ठीक हो जाता है।

पीलिया का इलाज पतंजलि

  • Piliya ka ilaj. आरोग्य वटी का सेवन करने से पीलिया रोग में आराम मिलता है।
  • पीलिया के रोगी को कुमार्यासव और लोहवास दोनों को मिलाकर पिलाया जाता है।
  • कमजोर लिवर को ठीक करने के लिये भूमिआवला एक छोटा सा पौधा होता है जिसमे आंवले जैसे फल लगते हैं। भूमिआवला से बढ़कर कमजोर लिवर को ठीक करने के लिये बेहतरीन टॉनिक है।

जानें पथरी का इलाज बाबा रामदेव 

पीलिया में क्या खायें

  • हरी सब्जियां और खाध पदार्थों का अधिक सेवन करना चाहिए क्योंकि ये आसानी से पच जाते हैं।
  • करेले और एलोवेरा का जूस पीना jaundice के मरीज के लिये फायदेमंद होता है।
  • निम्बू पानी पीलिया में लाभदायक होता है।
  • ड्राई फ्रूट्स का सेवन करें।
  • उबले हुए दाल और खिचड़ी का सेवन करें। 
  • गन्ने का जूस पियें।

पीलिया में परहेज

  • मसालेदार चीजों का सेवन बिल्कुल बंद कर दें।
  • सिगरेट और शराब का सेवन ना करें।
  • मिठाइयों से परहेज रखें।
  • गर्म चीजों का सेवन ना करें।

पीलिया के लक्षण दिखाई देने पर घरेलु नुस्खें आजमाने के साथ-साथ डॉक्टर से भी संपर्क करें। दोस्तों पीलिया का घरेलु इलाज का लेख आपको कैसा लगा हमें कमेंट करके जरूर बतायें। 

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *