दस्त और पेट की मरोड़ को ठीक करने के आसान उपाय / Dast rokkne ke gharelu upay

Dast rokne ke gharelu upay

Dast rokne ke gharelu upay. दस्त पेट से संबंधित रोग है जिसे डायरिया भी कहते है यह पाचन तंत्र बिगड़ने के कारण हो सकती है। ज्यादातर मामलों में इसे पूरी तरह से ठीक होने में 2-3 दिनों का समय लगता है। बड़े और बच्चे दस्त और मरोड़ की समस्या से कोई भी प्रभावित हो सकता है। यह बहोत आम बीमारी है लेकिन जब कभी इंसान को हो जाये तो इंसान बहोत ज्यादा थका-थका सा महसूस करता है जैसे कोई बहुत मेहनत वाला काम कर लिया हो। बदहजमी और खाने पीने की गलत आदते दस्त के प्रमुख कारण है। इसके इलावा ज्यादा गर्मी और सर्दी लगने से भी दस्त लग सकते हैं।

छोटे बच्चो को अगर दस्त लग जाये तो तुरंत डॉक्टर से मिले और जांच करवा के ट्रीटमेंट शरू करें। लम्बे समय तक शरीर में दस्त रहने से शरीर में पानी की कमी होने लगती है। जिससे बॉडी में डिहाइड्रैशन होने लगती है। इस समस्या से बचने के लिए जरुरी है कि पर्याप्त मात्रा में पानी पीते रहे। नींबू पानी पीना और ओआरएस का घोल पीने से डायरिया में राहत मिलती है। आज इस पोस्ट में हम आपको बतायेंगे Dast rokne ke gharelu upay, दस्त का इलाज कैसे करें, दस्त का आयुर्वेदिक उपचार।

loose motion होने के कारण

  • किसी दवाई से एलर्जी
  • ज्यादा खाना खाने से
  • पाचन तंत्र का सही ढंग से काम ना करने से
  • फ़ूड poisioning
  • ज्यादा गर्मी लगने से
  • ज्यादा सर्दी लगने से
  • शराब अधिक पीने से

दस्त रोकने के उपाय और घरेलु नुस्खे / Dast rokne ke gharelu upay

निम्बू के फायदे दस्त में

dast rokne ke gharelu upay

निम्बू में सिट्रिक एसिड होने की वजह से यह पेट को अच्छे से साफ़ कर देता है यह हमारे पेट से सारी गंदगी हटाने में मदद करता है एक निम्बू के रस में एक चमच्च नमक और एक चमच्च शक्कर मिलाये। अब इसका हर घंटे सेवन करें।

छाछ से करे दस्त का इलाज

chach peene ke fayde

छाछ को हमारे भारत में हेल्दी ड्रिंक माना जाता है। हमारे पेट के लिए इसे बहोत अच्छा माना जाता है। इसे पीने से पेट का पाचन तंत्र ठीक तरह से काम करने लगता है। छाछ में मौजूद एसिड बैक्टीरिया और पेट के रोगाणु से लड़ने में मदद करता है। एक गिलास छाछ में एक चमच्च नमक, थोड़ा सा जीरा पाउडर, काली मिर्च और हल्दी मिलाएं। अब इस छाछ का दिन में 2 बार सेवन करें। आपको दस्त में पूरा आराम मिलेगा।

केले के प्रयोग से करे दस्त का इलाज

dast me kela khane ke fayde

Dast rokne ke gharelu upay आप कच्चे केले का उपयोग कर सकते हैं। बिना छिले हुए 3-4 केले उबाल लें। अब एक चमच्च घी कढ़ाई में डालें और गर्म करें इसमें उबले हुए केले छिल कर डालें साथ ही  3-4 लौंग भी डाले। इसके बाद एक और बर्तन लें इसमें आधा चमच्च धनिया, एक कटोरी दही और सेंधा नमक डाले और अच्छे से मिला लें। अब केलों को इस दही में डाल दें और थोड़ा पानी मिलाकर धीमी आंच पर पकाये। ठंडा होने के बाद इस मिश्रण का सेवन करें।

इसबगोल

patanjali isbgol khane ke fayde

दस्त हो या कब्ज इसबगोल से आप दोनों बिमारियों का इलाज कर सकती हैं। दस्त लगने पर इसबगोल दही में डाल कर खाने से जल्दी राहत मिलती है। 5-10 ग्राम इसबगोल भूसी को दही के साथ मिलाकर खाएं।

पपीता दिलाये पेट में होने वाली मरोड़ से राहत

dast me kacha papita khane ke fayde

कच्चा पपीता पेट में होने वाली मरोड़ को दूर करने में बहोत ही फायदेमंद होता है। कच्चा पपीता लें और उसे किस लें अब 2 कप पानी में डाल कर इसे उबाल लें। ठंडा होने के बाद छानकर पिये। दिन में 2-3 बार पीने से पूरा आराम मिलता है।

मूंग दाल की खिचड़ी

moong daal khichdi khane ke fayde

जब हमे दस्त लगते हैं तो हमारा पाचन तंत्र अच्छे से काम नहीं करता। इसलिए अगर आप डायरिया से पीड़ित हैं तो कोई भी भारी भोजन नहीं खाना चाहिए जो आपको पचाने में दिक्कत हो। मूंग दाल खिचड़ी में अगर घी डालके खाया जाये तो दस्त में काफी आराम में मिलता है।

अदरक से करे दस्त का इलाज

adrak ke fayde

अदरक पेट के लिए अच्छा होता है। यह पेट में दर्द और दस्त का इलाज करने में काफी फायदेमंद होता है। आप अदरक को भूनकर उसका पेस्ट बना लें। अब एक गिलास गर्म पानी में मिलाकर उसमे एक बड़ा चमच्च शहद का मिलाये। अब जब तक दस्त ठीक ना हो रोजाना दिन में 2 बार इस घोल को पियें।

जानें अदरक के हैरान कर देने वाले फायदे 

दस्त लगने का उपाय है सेब का सिरका

seb ke sirke ke fayde

Dast rokne ke gharelu upay. सेब का सिरका दस्त को रोकने के काफी अच्छा उपाय है। इसमें एंटीबायोटिक प्रॉपर्टीज पायी जाती हैं जो दस्त के मूल बैक्टीरिया को खत्म करके दस्त के इलाज में मदद करता है। यह पेट में ph स्तर को बनाये रखने में मदद करता है जिससे पेट ठीक होता है। एक गिलास पानी में 2 चमच्च सेब के सिरका की मिलाये और अब इसका सेवन करें।

Dast rokne ke gharelu upay करें दस्त से

अनार एक ऐसा फल है दस्त में आराम देता है जिसको यह बीमारी बार-बार होती है उन्हें अनार के दाने खाने से आराम मिलता है। losse motion होने पर अनार के दाने ज्यादा से ज्यादा खाये। इससे आपको आराम मिलेगा। दिन में अनार से ज्यादा ना खाएं। इसके अलावा आप अनार का रस निकाल कम से कम दिन में 3 बार पियें। इसके अलावा आप अनार के पत्तो को पानी में उबालें और उस पानी को पियें।

अन्य कुछ उपाय

केले को दही में मिला कर खाये।

बिना शक्कर की काली चाय पियें।

खाने की जगह थोड़ी-थोड़ी देर में लिक्विड लेते रहें।

दूध से बना सामान जैसे चीज, दूध, पनीर और कॉफ़ी इन सबको खाने से बचे।

दोस्तों आज हमने जाना Dast rokne ke gharelu upay के बारे में अगर आपको इन उपायों को लेकर कुछ पूछना है तो कमेंट करें। मैं रिप्लाई जरूर करूंगी।

Tags# दस्त का आयुर्वेदिक उपचार, दस्त का इलाज के घरेलु नुस्खे, दस्त में क्या खाना चाहिए, Dast rokne ke gharelu upay, दस्त रोकने के उपाय इन हिंदी, पेट में मरोड़ का घरेलु इलाज

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *