बिस्तर पर पेशाब करने का इलाज के देशी घरेलु नुस्खें / Bistar par peshab ka ilaj in hindi

Bistar par peshab ka ilaj in hindi

Bistar par peshab ka ilaj in hindi. रात को सोते समय छोटे बच्चों का बिस्तर में पेशाब करना आम बात है। पर 6 साल से ऊपर के बच्चों का बिस्तर गीला करना एक बीमारी भी हो सकती है। बारिश के दिनों में तो यह समस्या और भी ज्यादा तकलीफदेय होती है। कई बार माता पिता बच्चों को इसके लिए सजा भी  देते हैं।  बच्चे को सबके सामने अपमानित करते हैं ताकि बच्चा बिस्तर गीला ना करें लेकिन ऐसा करने से बच्चे के मन में हीनभावना आ जाती है और उनका आत्मविशवास कम हो जाता है। वयस्कों के मुकाबले बच्चों का ब्लैडर छोटा होता है जिस कारण वे ज्यादा देर तक पेशाब नहीं रोक पाते जिससे रात को bedwetting हो जाती है। आज इस पोस्ट में हम आपको Bistar par peshab ka ilaj in hindi, desi nuskhe for bedwetting के लिए घरेलु नुस्खें बतायेंगे जिनकी मदद से आप बच्चे की बिस्तर पर पेशाब करने की आदत छुड़ा सकते हैं।

बिस्तर गीला करने के कारण

  • ब्लैडर में पेशाब जमा ना होना
  • हार्मोन्स की गड़बड़ी के कारण
  • बच्चों के पेट में कीड़े होना
  • कुछ दवाएं ऐसी होती है जिनके सेवन से पेशाब ज्यादा बनता है
  • रात में पेशाब ज्यादा बनना

बच्चों का बिस्तर पर पेशाब करने का इलाज और उपाय

Bistar par peshab ka ilaj in hindi

  • ठंड लगने की वजह से  कई बार बच्चे रात को बिस्तर में पेशाब कर देते हैं। ऐसे में बच्चे को रात को कंबल से ढक कर रखें।
  • गुड़ के सेवन से भी शरीर में गर्मी आती है जिससे बिस्तर पर पेशाब करने में कमी आने लगती है। इसके लिए प्रतिदिन सुबह गुनगुने दूध के साथ बच्चों को गुड़ खाने को दें।
  • Bistar par peshab ka ilaj in hindi. गुर्दे और मूत्राशय में इन्फेक्शन के कारण भी बड़ो और बच्चों को रात में बार-बार पेशाब करने की बीमारी होने लगती है। ऐसे में क्रैनबेरी जूस इसके लिए फायदेमंद है। सोने से एक घंटा पहले बच्चे को क्रैनबेरी जूस पिलायें।
  • लगभग 10-10 ग्राम आंवला और काला जीरा लेकर दोनों पीस लें। अब सामान मात्रा में मिश्री लेकर पीस कर मिला लें। अब रोजाना 2-2 ग्राम चूर्ण पानी के साथ खाने से बच्चे का बिस्तर में पेशाब करना बंद हो जाता है।
  • तिल और गुड़ को एक साथ मिलाकर बच्चे को खिलाने से बच्चे का बिस्तर पर पेशाब करने का रोग ख़त्म हो जाता है। तिल और गुड़ के साथ आप अजवायन का सेवन भी कर सकते हैं।
  • एक गिलास दूध में एक छुहारा डालकर उबाल लें। जब दूध अच्छी तरह से उबल जाये और अन्दर का छुहारा फूल जाये तो इस दूध को ठंडा करके छुहारे को चबाकर खिलाने के बाद ऊपर से बच्चे को दूध पिला दें। ऐसा रोजाना करने से कुछ ही  में दिनों में ही बच्चों का बिस्तर पर पेशाब करना बंद हो जाता है।
  • Bistar par peshab ka ilaj in hindi.बच्चे को अखरोट खिलाने से बच्चे की रात को सोते समय बिस्तर पर पेशाब करने की आदत खत्म हो जाती है।
  • रात को सोने से पहले थोड़ी सी किशमिस पानी में भिगो दें और सुबह उठकर इन्हे पानी से निकालकर बच्चे को खाने के लिए दें। इस देशी नुस्खे से bed wetting ka ilaj होता है।
  • Bed wetting soultion in hindi के लिए दालचीनी का प्रयोग भी फायदेमंद होता है।
  • एक कप ठंडे दूध में एक चमच्च शहद मिलाकर सुबह-शाम एक महीने तक बच्चे को पिलाइये। ऐसा करने से बच्चा बिस्तर में पेशाब करना बिल्कुल बंद कर देगा।

जानें पेशाब में जलन के आसान उपाय 

रात को बिस्तर गीला ना करने के उपाय

  • Bistar par peshab ka ilaj in hindi. रात को 8 बजे के बाद ज्यादा पानी ना पिये और रात को सोने से पहले एक बार पेशाब जरूर करना चाहिए।
  • अगर बच्चा जल्दी सो जाये तो उसे गोद में उठाकर शौचालय ले जाएँ।
  • अगर बच्चा फिर भी कभी बिस्तर पर पेशाब कर दें  तो उसे मारे नहीं बल्कि प्यार से समझाये।
  • कुछ बच्चे पेशाब लगने पर डर के कारण बाथरूम नहीं जाते और बिस्तर पर ही पेशाब कर देते हैं अगर ऐसा है तो सबसे पहले बच्चे से बात करके उसका डर निकालें।
  • अगर रात को बच्चे ने पेशाब नहीं किया तो सुबह उसकी खुलकर तारीफ करें।
  • अगर 10 साल की उम्र के बाद भी बच्चा बिस्तर गीला करता है तो एक बार डॉक्टर से मिलकर भी सलाह लेनी चाहिए। सही समय पर और सही तरीके से ट्रीटमेंट करके Bistar par peshab ka ilaj in hindi किया जा  सकता है।

जानें छोटे बच्चे का वजन कैसे बढ़ाये 

Tags# Bistar geela karne ke upay in hindi, Bistar par peshab ka ilaj in hindi, बच्चों का बिस्तर गीला करना, बच्चों का बिस्तर में पेशाब करना, बिस्तर गीला ना करने के उपाय, बिस्तर पर पेशाब करने का इलाज, bedd wetting ka ilaj, bed wetting solution in hindi, desi nuskhe for bed wetting

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *